Thu. Oct 22nd, 2020

KHABARBAZI

सर्वप्रथम : )

वायु प्रदूषण के खिलाफ सरकार का प्लान लागू, इस एप को डाउनलोड करने की अपील


नई दिल्ली: केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (प्रकाश जावड़ेकर) ने कहा कि प्रदूषण (वायु प्रदूषण) आज के वक्त की सबसे बड़ी समस्या बन गया है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे अपने मोबाइल फोन में SAMEER के लिए डाउन लोड करें। इससे उन्हें विभिन्न शहरों में प्रदूषण की स्थिति का सही अपडेट मिलता रहेगा।

देश खतरनाक स्तर तक पहुंच गया
जावड़ेकर ने कहा कि देश में प्रदूषण का स्तर खतरनाक लेवल तक पहुंच गया है। इस समस्या से निपटने के लिए सरकार ने लीटर व्हीकल पॉलिसी लॉन्च की है। वर्तमान में देश में 2 लाख इलेक्ट्रिक व्हीकल दौड़ रहे हैं। आने वाले समय में ये वाहन और लोकप्रिय होंगे।

फेसबुक पर जनता से संवाद
रविवार को लोगों के साथ फेसबुक लाइव कार्यक्रम करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि देश में वायु प्रदूषण के पीछे प्रमुख कारक यातायात, उद्योग, धूल, पराली, भूगोल और मौसमी दशाएं हैं। मंत्री ने कहा कि प्रदूषण की समस्या एक दिन में हल नहीं की जा सकती है। प्रत्येक कारक से सामना करने के लिए लगातार प्रयास की जरूरत है।

जावड़ेकर करते हैं ई स्कुटी का इस्तेमाल किया
जावड़ेकर ने कहा कि वे खुद ई-वाहन का इस्तेमाल करते हैं। उनके पास ई-स्कूटी है और इसे अपने घर पर चार्ज करते हैं। मंत्री ने कहा कि सरकार बी सोल छह के बारे में आई, जिसने वाहनों के कार्यों को 60 प्रति तक कम कर दिया। वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए मेट्रो और ई- बसों को लाया गया है।

ये भी पढ़ें- ‘कुपोषण’ दिखाने के लिए कांग्रेस ने लगाया बांग्लादेश का फोटो, मंत्री ने किया पलटवार

देश में खराब वायु के दिनों की संख्या कम हुई
जावड़ेकर ने कहा कि “खराब वायु” के दिनों की संख्या में कमी हुई है। यह 2016 में 250 दिन थे, जो 2020 में 180 दिन रह गए। उन्होंने कहा कि कुछ दूरी तक जाने के लिए लोग वाहन का प्रयोग न करें। जावडेकर ने कहा कि देश में अगले कुछ वर्षों में प्रदूषण 60 से 70 बिजली उत्पादन को चिह्नित कर बंद किया जाएगा। दिल्ली-एनसीआर में बदरपुर और सोनीपत के बिजली संयंत्र बंद हो चुके हैं।

लाइव टीवी





Source link